Habits, which can make you impotent आदतें, जिनसे बन सकते हैं आप नपुंसक

नपुंसकता, ये ऐसा रोग है जिसमें पुरूष, स्त्री के साथ संभोग करने में नाकाम या असफल रहता है। यानी पुरूष की सेक्स क्षमता बहुत ज्यादा कमजोर हो जाती है। अन्य शब्दों में नपुंसकता को परिभाषित किया जाये तो ऐसे पुरूष, जो स्त्री के सम्पर्क में आते हैं या यौन संबंध बनाते समय उनका स्खलन अतिशीघ्र हो जाता हैं।
कुछ पुरूष ऐसे होते हैं, जिनकी संभोग करने की इच्छा तो बहुत होती है, मगर उनका संभोग का सबसे बड़ा आधार यानी पुरूषांग में पूरी तरह से तनाव व कसाव नहीं आ पाता और इसी कमजोरी की वजह से वो अपनी पार्टनर को संतुष्ट नहीं कर पाते।
बहुत से लोगों में कामवासना तो बहुत होती है और उनका पुरूषांग भी अच्छे खासे तनाव में रहता है। मतलब वह पूरी तरह सामान्य होते हैं, लेकिन उनके लिंग यानी पुरूषांग में संभोग के समय आखिर तक कसाव नहीं रहता, जिसकी वजह से वो अपने पार्टनर को पूर्णतः संतुष्ट नहीं कर पाते। इसी यौन कमजोरी को आयुर्वेद में नपुंसकता कहा जाता है।
आजकल पुरुषों में नपुंसकता काफी आम समस्या हो गई है, जिसके बारे में या तो पुरुष जानबूझ कर आंख मूंद कर सब कुछ सही होने की कामना करता है या तो दुनियां भर की दवाई और वैद्यों के चक्कर लगाता है। आमतौर पर नपुंसकता का कारण शरीर में उपलब्ध हार्मोंस में गड़बड़ी या इनकी कमी के कारण होती है।

यह आर्टिकल आप namardi.in पर पढ़ रहे हैं..

नपुंसक होने के कई ढेर सारे कारण हो सकते हैं जैसे- मानसिक तनाव और अवसाद, शराब, ड्रग का नशा, धूम्रपान, मोटापा, शुगर, दिल की बीमारी या उच्च रक्त चाप आदि। एक रिसर्च में इस बात की आशंका जताई गई है, जिसके तहत सन् 2025 तक नपुंसक पुरूषों की सबसे ज्यादा संख्या भारत में देखने को मिलेगी।
इसके लिए जिम्मेवार कारणों में ग्लोबल वार्मिंग समेत अनियमित जीवन शैली है। हाल ही में सेक्स प्राॅब्लम से जुड़ी एक संस्था द्वारा बताया गया कि दुनियां में नपुंसकता के शिकार अधिकतर व्यक्ति एशिया, अफ्रीका और उत्तर अमेरिका में हैं। अपने खान-पान पर ध्यान देकर, भली आदतें अपना कर और अपनी लाइफ स्टाईल में सुधार लाकर व्यायाम करना जब तक पुरुष शुरु नहीं करेगें, तब तक वे इसी शर्मिंदगी का शिकार होते रहेंगे।

चलिए बात करते हैं कुछ ऐसी खराब आदतों की, जिनसे पुरूषों को करना पड़ सकता है नपुंसकता का सामना।
1. साइकिल चलाना
एक शोध के मुताबिक यह बात सामने आई है कि जिन पुरुषों को हफ्ते में तीन घंटे साइकिल चलाने की आदत होती है, उनमें नपुंसक होने का चांस उन पुरुषों की तुलना में बढ जाता है, जो बिल्कुल भी या कम समय के लिये साइकिल चलाते हैं।
2. कैफीन
अगर आप काॅफी पीने के शौकीन हैं और एक लिमिट तक पीते हैं, तब तो कोई समस्या नहीं है। लेकिन आप अधिक मात्रा में कॉफी पीते हैं या आपकी ज्यादा काफी पीने आदत है, तो आपको यह आदत अब बदलनी पड़ेगी। कैफीन का हाई लेवल आपको नपुंसक बना सकता है।
3. आहार
हमारी बाॅडी को अच्छे प्रकार से काम करने के लिये कई तरह के पौष्टिक तत्वों की जरूरत होती है। अगर आप सही प्रकार का या अच्छा आहार नहीं लेंगे तो आपको बहुत नुकसान भुगतना पड़ सकता है। तीखे, खट्टे, गर्म और नमकीन पदार्थों का अधिक सेवन करने से पित्त कुपित होकर वीर्य का क्षय करता है, जिससे नपुंसकता पैदा होती है, इसे पित्तज क्लैब्य कहते हैं।
4. खर्राटे भरना
सोते वक्त अगर आप खर्राटे ले रहे हैं, तो इसका सीधा मतलब है कि आप सही प्रकार से सास नहीं ले पा रहे हैं। एक रिसर्च के अनुसार ठीक प्रकार से न सो पाने और नपुंसकता को एकसार बताया गया है। जो लोग सोते समय खर्राटे भरते हैं, वे उन लोगों के मुकाबले जो सोते समय खर्राटे नहीं लेते, दोगुना नपुंसक हो सकते हैं।
5. धूम्रपान
अधिक मात्रा में धूम्रपान से रक्त संचार धीमा पड़ जाता है, इसलिये धूम्रपान करना छोड़ दीजिये। जिससे शरीर में सही से ब्लड सर्कूलेट होना शुरु हो सके और आपके नपुंसक होने के चांस ही न रहें।
6. मोटापा
अत्याधिक मोटापा कई रोगों का घर बन जाता है। अधिक मोटापे से शरीर पर बेेहद बुरा प्रभाव पड़ता है। इसका सीध असर पुरूषांग यानी लिंग पर पड़ता है इसलिये आपको चाहिए कि दिन में लगभग 45 मिनट कसरत यानी व्यायाम अवश्य करें और मोटापा घटा कर रक्त संचार बढाएं।
7. नींद
अच्छी और पर्याप्त नींद हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। अगर आप रोज 8 घंटे की नींद नहीं लेेते हैं, तो इससे आपको अत्यधिक शारीरिक थकान महसूस होगी और आप सही से कोई भी कार्य नहीं कर पायेंगे। ठीक प्रकार से न सोने की वजह से शरीर में हार्मोनल असंतुलित हो जाता है, जिससे नपुंसकता पैदा हो जाती है।
8. शराब
अत्यधिक मात्रा में बेहिसाब शराब पीने के कारण खून की धमनियो में खून का दौरा कम होता है, जिससे लिंग तक खून की सप्लाई उचित मात्रा में नहीं पहुंच पाती, जितनी कि पहुंचनी चाहिए। ऐसे में इंसान नपुंसक हो जाता है।
9. सप्पलीमेंट
आज की फास्ट लाइफ और आधुनिक दौर में अमूमन देखा जाता है कि लोग इतना ज्यादा जंक फूड खाने लग गए हैं, कि उन्हें सही प्रकार का प्रोषण नहीं मिल पाता और शरीर में उस पोषण की कमी को पूरा करने के लिये वे दवाई की दुकान से सप्पलीमेंट लेने लग जाते हैं, जिसका सीधा असर नपुंसकता पर पड़ता है।
10. तनाव
बहुत अधिक टेंशन लेने से भी नपुंसकता के चांसेज बने रहते हैं। अगर आप जरा-जरा सी बातों को लेकर तनाव में रहने लगेंगे और दिनभर उसी सोच में डूबे रहंेगे तो यह बहुत बड़ी समस्या बन सकता है आपके लिए। यहां तक कि नपुंसकता का शिकार भी होना पड़ सकता है आपको।

सेक्स से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanonline.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *